Monday November 2 2015 15:07:12

LATEST NEWS

बिहार : स्कूल शिक्षकों को नई जिम्मेदारी, खुले में कोई शौच करता दिखे, तो फोटो खींच लें-
पटना: बिहार में शिक्षक अभी तक पढ़ाने के अलावा जानवरों की गिनती तक कर चुके हैं लेकिन कुछ अधिकारी उनसे स्वच्छता अभियान के तहत 'लोटे को निगरानी' से सम्बंधित एक आदेश से बवाल शुरू हो गया हैं. दरअसल राज्य के दो प्रखंड मुज़फ़्फ़रपुर के कुढ़नी और औरंगाबाद के देब के प्रखंड शिक्षा अधिकारियों ने फ़रमान निकाला कि शैक्षणिक कार्यों के अलावा सुबह और शाम एक एक घंटे इस बात को निगरानी रखेंगे कि कोई खुले में शौच नहीं जा रहा है और कोई व्यक्ति खुले में शौच करते पाया जाता है तब उसकी फोटोग्राफ़ी भी करना होगा. इस फरमान के तहत अब हाई स्कूल के शिक्षक खुले में शौच करने वालों को रोकेंगे और उनकी निगरानी करेंगे. शिक्षकों को ड्यूटी के लिए जहां पत्र भेजा गया है वहीं प्रधानाध्यापकों को शौचालय निगरानी का पर्यवेक्षक बनाया गया है. खुले में शौच को रोकने और इसकी निगरानी के लिये शिक्षकों को वार्ड स्तरीय सदस्य बनाया गया है। इसके तहत अब प्रधानाध्यापक और शिक्षक शौचालय की राशि आवंटन, भौतिक सत्यापन, निर्माण से लेकर निरीक्षण तक का काम करेंगे. नई जिम्मेदारी के साथ-साथ सप्ताह में दो दिन कार्यों की समीक्षा के लिये बैठक करने का भी दिशा-निर्देश दिया गया है.

परेश रावल ने मोदी को लेकर 'चाय वाला बार वाला' ट्वीट डिलीट किया, माफी मांगी-
नई दिल्ली. बीजेपी सांसद और एक्टर परेश रावल ने नरेंद्र मोदी को लेकर किया ट्वीट डिलीट कर दिया। परेश ने 21 नवंबर को अपने ट्वीट में लिखा था, "हमारा चाय वाला किसी भी दिन तुम्हारे बार वाले से बेहतर है।" यूथ कांग्रेस की ऑनलाइन मैगजीन युवा देश में मोदी का अपमानजनक MEME ट्वीट किया गया था। इसमें मोदी को डोनाल्ड ट्रम्प और ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे के साथ बातचीत को दिखाया गया। बाद में ट्वीट को डिलीट भी कर दिया गया। इस पर गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने राहुल गांधी से जवाब मांगा था। खबरों की माने तो परेश रावल ने अपने ट्वीट को लेकर माफी भी मांगी। उन्होंने लिखा, "उसे अच्छा ट्वीट नहीं कहा जा सकता। इसलिए मैंने उसे डिलीट कर दिया। अगर किसी की भावनाएं आहत हुईं हो तो मैं माफी मांगता हूं।

शामली में आचार संहिता की उड़ी धज्जियां, चुनाव प्रचार वाली कप में बांटी चाय-
उत्तर प्रदेश में नगर निकाय चुनाव के पहले चरण के लिए वोटिंग जारी है. पहले चरण में सूबे के कुल 24 जनपदों में वोट डाले जा रहे हैं. शाम पांच बजे वोट डाले जा सकेंगे. इस बीच कानपुर के वार्ड 66 और मेरठ के वार्ड 85 में ईवीएम खराब होने के चलते हंगामा हुआ. मतदाताओं के हंगामा को देखते हुए प्रशासनिक अधिकारी फौरन मौके पर पहुंचे. इसके अलावा शामली में आचार संहिता की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गईं. चुनाव प्रचार वाली कप में चाय बांटी गई. फिलहाल इस मामले में किसी तरह की कार्रवाई नहीं की गई है. इससे पहले गोरखपुर में सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वोट डाला. मतदान करने के बाद योगी ने कहा कि निकाय चुनाव में बीजेपी को भारी जीत मिलेगी. जनता का रुझान बीजेपी के पक्ष में है. उन्होंने कहा कि हम नगर निकाय को और सक्षम बनाएंगे. साथ ही लोगों को बेहतर सुविधाएं मुहैया कराएंगे. ये निकाय चुनाव को सीएम योगी की पहली अग्नि परीक्षा माना जा रहा है. उनके सीएम बनने के बाद राज्य में पहली बार नगर निकाय चुनाव हो रहे हैं. वहीं, कानपुर के रावतपुर में EVM में खराबी के चलते मतदान नहीं शुरू हो पाया है. इसके अलावा मेरठ के बूथ संख्या 243 की ईवीएम खराब होने का भी मामला सामने आया है. जाकिर कॉलोनी के वार्ड 85 में ईवीएम खराब होने के चलते लोगों की भीड़ जमा हो गई है. कानपुर के वार्ड 66 और मेरठ के वार्ड 85 में ईवीएम खराब होने के चलते हंगामा भी हुआ. मतदाताओं के हंगामा को देखते हुए प्रशासनिक अधिकारी फौरन मौके पर पहुंचे. पहले चरण में प्रदेश के पांच नगर निगम, 71 नगर पालिका और 154 नगर पंचायतों में मेयर, अध्यक्ष, पार्षद और सभासद पदों के लिए मतदान हो रहे हैं. पहले चरण के मतदान के लिए 3,732 मतदान केंद्र और 11679 मतदान स्थल बनाए गए हैं. इसके परिणाम एक दिसंबर को आएंगे.

4 करोड़ की लागत से देश में बना विक्टर टैंगो नरेंद्र मोदी देवेंन्द्र विमान, 6 साल बाद हुआ रजिस्ट्रेशन-
नयी दिल्ली : देश में स्वदेशी विमान बनाने का रास्ता खुल गया. देश में बने विमान को डीजीसीए ने मंजूरी दे दी है. अब कभी भी इस विमान का परीक्षण उड़ान हो सकता है. विमान का नाम प्रधानमंत्री मोदी के नाम से भी जुड़ा है. विमान का नाम रखा गया है वीटीएनएमडी यानि विक्टर टैंगो नरेंद्र मोदी देवेंन्द्र. पीएम मोदी के साथ - साथ इस विमान का नाम जुड़ा है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस से. चुकि विमान बनाने वाले को प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से मदद मिली है इसलिए उनके नाम को भी शामिल किया गया है. इस विमान को कैप्टन अमोल यादव ने कांदिवली की बिल्डिंग की छत पर बनाया है. इसे बनाने में लगभग 4 करोड़ का खर्च आया है. विमान में 6 यात्रियों के लिए बैठने की जगह है. मेक इन इंडिया प्रदर्शनी में इसे लोगों के सामने भी रखा गया. विमान पूरी तरह बन जाने के बाद भी इसे उड़ान की अनुमति नहीं मिल रही थी. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के हस्तक्षेप के बाद इसका रजिस्ट्रेशन हुआ. इस सहयोग के लिए कैप्टन ने अपनी पूरी मेहनत को पीएम मोदी और सीएम फडणवीस का नाम दे दिया. कैप्टन ने कहा, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की कोशिश का ही नतीजा है कि उनका सपना सच होने को है, इसलिए अपने विमान को दोनों का नाम दिया है. उन्होंने दुख जताया कि देश में बने विमान के रजिस्ट्रेशन के लिए इतना वक्त लग गया. यादव ने कहा, जिस काम के लिए तीन दिन का वक्त लगना चाहिए उसके लिए 6 साल लग गये. उम्मीद कर रहा हूं जल्द ही सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद परीक्षण उड़ान भरने की इजाजत मिलेगी.

गलत ट्रैक पर 160 KM दौड़ी ट्रेन, महाराष्ट्र के बजाय MP पहुंच गए हजारों किसान-
देश भर में कई ट्रेन हादसे होने के बावजूद रेलवे प्रशासन की लापरवाही रुकने का नाम नहीं ले रही है. रेलवे अधिकारियों को न तो यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा की परवाह है और न ही अपनी जिम्मेदारी का एहसास. अब एक ऐसा कारनामा सामने आया है, जिसने सबको हैरान कर दिया है. दिल्ली से महाराष्ट्र के लिए रवाना हुई ट्रेन रेलवे प्रशासन की गलती की वजह से मध्य प्रदेश पहुंच गई. यह ट्रेन 160 किमी तक गलत दिशा में दौड़ती रही, लेकिन न तो रेलवे प्रशासन को इसकी जानकारी हुई और न ही ड्राइवर को. जब ट्रेन मध्य प्रदेश के बानमोर स्टेशन पहुंची, तब जाकर ड्राइवर को होश आया कि ट्रेन गलत रूट में जा रही है. गनीमत रही कि इस दौरान कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ. रेलवे प्रशासन की इस लापरवाही का खामियाजा सैकड़ों यात्रियों को भुगतना पड़ा. ये यात्री बानमोर स्टेशन में फंस गए. अब रेलवे अधिकारियों को समझ नहीं आ रहा है कि वो क्या करें? दरअसल, सैकड़ों किसान महाराष्ट्र से दिल्ली के जंतर-मंतर में किसान यात्रा रैली में शामिल होने आए थे. जब ये किसान महाराष्ट्र लौट रहे थे, तो इनके लिए दिल्ली से महाराष्ट्र के लिए विशेष ट्रेन की व्यवस्था की गई. यह ट्रेन दिल्ली से रवाना तो महाराष्ट्र के लिए हुई थी, लेकिन पहुंच गई मध्य प्रदेश. दिलचस्प बात यह है कि ट्रेन 160 किमी तक गलत दिशा में चलती रही, लेकिन रेलवे प्रशासन के किसी अधिकारी और कर्मचारी को इसकी भनक तक नहीं लगी. रेलवे प्रशासन के गैर जिम्मेदार रवैये की वजह से ये किसान अपने घर पहुंचने की बजाय मध्य प्रदेश के बानमोर स्टेशन में फंस गए. बताया जा रहा है कि मथुरा स्टेशन में ट्रेन को गलत सिग्नल दिया गया, जिसके चलते ट्रेन महाराष्ट्र की बजाय मध्य प्रदेश की ओर चली गई. कोल्हापुर जा रहे एक यात्री ने बताया कि रेलवे प्रशासन की इस लापरवाही के चलते यात्री करीब 5-6 घंटे तक मध्य प्रदेश के बानमोर स्टेशन में फंसे रहे.

गुजरात के विकास की झूठी तस्वीनर दुनिया को दिखाई जा रही है : हार्दिक पटेल-
अहमदाबाद: अहमदाबाद में हार्दिक पटेल ने प्रेस कॉन्फ्रें स के दौरान कहा कि सरकार बनी तो आरक्षण के लिए प्रस्ताव पास करवाएगी कांग्रेस. उन्होंटने कहा कि मैंने जानकारों से बात की है और 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण संभव है. उन्होंरने कहा कि पाटीदारों का वोट बांटने के लिए बीजेपी ने 200 करोड़ रुपये का फंड बनाया है. मैं किसी भी पार्टी से जुड़ने वाला नहीं हूं यह मै साफ कर देना चाहता हूं. उन्हों्ने कहा कि कांग्रेस पिछले 25 सालों से सत्ता से बाहर रही है. पाटीदार आरक्षण को लेकर कांग्रेस ने जो फॉर्मूला दिया है वह हमें मंजूर है. उन्होंने कहा कि साथ ही हम बीजेपी को कभी माफ नहीं करेंगे. हमें जिस तरह से कांग्रेस कह रही है कि वह हमारी बात सुनेंगे तो हमें लगता है कि हम अब गांव गांव तक कांग्रेस की बात ले जाएंगे. हार्दिक पटेल ने कहा कि ऐसा नहीं है कि कांग्रेस से हम बहुत पहले से जुड़े हुए हैं और वह हमारे बारे में बहुत ज्यादा सोचती है लेकिन उसने कहा है कि वह सरकार में आई तो प्रस्ताव पास करवाएगी.

पद्मावती: 30 को संसदीय कमेटी के सामने पेशी, हरियाणा कैबिनेट में बैन की मांग-
फिल्म पद्मावती के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली को संसद की पिटिशन कमेटी ने समन जारी किया है. उन्हें 30 नवंबर को पेश होने का आदेश दिया गया है. दरअसल, चित्तौड़गढ़ के सांसद सीपी जोशी ने 20 नवंबर को पिटिशन कमेटी में अपील की थी कि फिल्म पद्मावती में इतिहास को गलत तरीके से पेश किया गया है, जिसके बाद दायर याचिका पर संज्ञान लेते हुए पिटिशन कमेटी ने भंसाली को नोटिस जारी किया है. इस बीच हरियाणा कैबिनेट में पद्मावती पर बैन लगाने मांग हुई है. जानकारी के मुताबिक़ सीएम मनोहर लाल खट्टर की मौजूदगी में कैबिनेट की एक बैठक हुई. इसमें फिल्म पर इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया. कैबिनेट में दो मंत्रियों ने इस तरह का प्रस्ताव रखा. उन्होंने कहा, अगर फिल्म के विवादित कंटेंट नहीं हटाए जा रहे हैं तो राज्य में इसके प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए. अगर ऐसा हुआ तो यूपी, राजस्थान, एमपी के बाद हरियाणा बीजेपी शासित चौथा राज्य होगा जहां पद्मावती के कंटेंट को लेकर इस उस पर बैन लगाया जा रहा है. बताते चलें कि पंजाब की कांग्रेस सरकार ने भी विवादित कंटेंट हटाए बिना प्रदर्शन रोकने की बात कही है. दूसरी ओर फिल्म पर बढ़ते विवाद के मद्देनजर संसदीय कमिटी ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से 15 दिन में रिपोर्ट मांगी है. संसदीय कमिटी के अध्यक्ष भगत सिंह कोशियारी ने इस मामले पर नोटिस जारी किया है. दरअसल पद्मावती फिल्म के खिलाफ राजपूत समाज, नेताओं, क्षत्रिय संगठनों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन के बाद फिल्म की रिलीज डेट पहले ही टल चुकी है. सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने कहा कि फिल्म की वर्तमान स्थिति को देखते हुए सर्टिफिकेट देने में 68 दिन लग सकते हैं.

जेपी पर गिरी गाज, सभी निदेशकों पर निजी संपत्ति बेचने पर लगी रोक-
सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार जयप्रकाश एसोशिएट लिमिटेड के सभी 13 निदेशकों पर निजी संपत्ति बेचने पर रोक लगा दी है. कोर्ट के मुताबिक यदि कोई निदेशक अपनी संपत्ति बेचता पाया गया तो उसके खिलाफ आपराधिक अभियोग के तहत मामला चलाया जाएगा.गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट का यह आदेश सभी निदेशकों को व्यक्तिगत तौर पर कोर्ट में हाजिर रहने के आदेश के बाद दिया गया. कोर्ट में जेपी एसोशिएट के निदेशकों की मौजूदगा में कोर्ट ने कहा कि इस आदेश के बाद कोई भी निदेशक उसके अथवा सके परिजनों के नाम पर मौजूद किसी भी संपत्ति को बेचने की कोशिश नहीं करेगा. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने जेपी ग्रुप को कोर्ट रजिस्ट्री के पास 2000 करोड़ रुपये जमा कराने का फैसला सुनाया था जिससे कि जेपी प्रोजेक्ट्स में होमबायर्स के हितों को सुरक्षित किया जा सके. इस आदेश पर जेपी समूह ने कोर्ट से होमबायर्स के हित के लिए महज 400 करोड़ रुपये जमा कराने की अपील की थी और बाकी की रकम किश्तों में जमा कराने के लिए छूट मांगी थी.आज की सुनवाई के दौरान जेपी समूह ने 275 करोड़ रुपये की रकम जमा कराई जिसके बाद कोर्ट ने उसे 14 दिसबंर और 31 दिसंबर तक क्रमश: 150 और 125 करोड़ रुपये जमा कराने का आदेश दिया

गुजरात चुनाव 2017: कांग्रेस की दूसरी सूची में कुल 13 नाम, पहली लिस्टस के चार उम्मी दवार बदले-
कांग्रेस ने गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार रात नौ उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की। पार्टी ने रविवार को घोषित सूची में चार उम्मीदवार बदल दिये हैं। अब जूनागढ़ सीट पर अमित ठुम्मर की जगह भीखाभाई जोशी, भरुच में किरण ठाकोर के बदले जैश पटेल, कामरेज में नीलेश कुंबानी की जगह अशोकर जीरावाला और वराछा रोड सीट पर प्रभुल्ल भाई सी तोगड़िया के स्थान पर धीरूभाई गजेरा उम्मीदवार होंगे। नौ अन्य उम्मीदवार हैं: अबदास सीट से प्रद्युम्न सिंह जडेजा, भुज से आदम बी चाकी, रापार से संतोक अरेथिया, राजकोट से मिथुल डोंगा, राजकोट दक्षिण से दिनेश चोवातिया, जामनगर उत्तरी से जीवन कुंभरवादिया , जामनगर दक्षिणी से अशोक लाल, खांभालिया से विक्रम मदाम और द्वारका से मेरामन गारिया। गुजरात विधानसभा की 182 सीटों के लिए दो चरणों में नौ दिसंबर और 14 दिसंबर को वोट डाले जायेंगे। मतों की गणना 18 दिसंबर को होगी। कांग्रेस ने रविवार ही पहले चरण के वास्ते 77 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी की थी।

दिल्ली में डेढ़ दशक पुरानी हनुमान जी की मूर्ती पर हाईकोर्ट की नजर, किया जा सकता है शिफ्ट-
नई दिल्ली: पिछले डेढ़ दशक से राजधानी दिल्ली की पहचान बन चुकी झंडेवालान में बनी हनुमान जी की मूर्ती पर अब हाईकोर्ट की नजर है। हाईकोर्ट ने एमसीडी और सिविक एजेंसियों से ये सवाल किया है कि क्या इस मूर्ती को एयरलिफ्ट यानि कि किसी और स्थान पर शिफ्ट किया जा सकता है ? 108 फीट ऊंची हनुमान जी की ये विशाल मूर्ती दिल्ली के करोल बाग से झंडेवालान के बीच में पड़ती है। एमसीडी और सिविक एजेंसियों को लगाई फटकार सोमवार को हाईकोर्ट ने एमसीडी और सिविक एजेंसियों को ये निर्देश दिए है कि वो ऐसी संभावनाओं की तलाश करें, जिसमें इस मूर्ति को एयरलिफ्ट किया जा सके। हाईकोर्ट ने ये निर्देश करोल बाग में बढ़ रहे अतिक्रमण को हटाने को लेकर दिया है। साथ ही हाईकोर्ट ने इस पर नाराजगी भी जाहिर की है। इस मामले में अगली सुनवाई 24 नवंबर को होगी। करोल बाग में अतिक्रमण को हटाने के तहत दिया आदेश करोल बाग में अतिक्रमण को हटाने को लेकर एक पब्लिक याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट की कार्यवाहक चीफ जस्टिस गीता मित्तल की बेंच ने नगर निगम, दिल्ली पुलिस और अन्य सिविक एजेंसियों को ये आदेश दिया है कि मूर्ति एयरलिफ्ट करने के बाद इसके आसपास अतिक्रमण हटाने पर विचार किया जाए। कोर्ट ने अमेरिका का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां भी गगनचुंबी इमारतें दूसरी जगह शिफ्ट की जा चुकी हैं। आपको बता दें कि करोल बाग में इस मूर्ति के आसपास कई लोगों ने अतिक्रमण कर लिया है, जिसकी वजह से यहां अक्सर जाम की समस्या बनी रहती है। ये जगह कई अहम रास्तों को जोड़ती है। जैसे पटेल नगर, धौला कुआं, रोहतक और मध्य दिल्ली की सड़के यहां आकर मिलती हैं।

बिहार बीजेपी अध्यक्ष का बयान, कहा- मोदी के खिलाफ उंगली उठाई तो हाथ काट देंगे-
बिहार बीजेपी अध्यक्ष और उजियारपुर से लोकसभा सांसद नित्यानंद राय ने विवादित बयान दिया है. एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कठिन परिस्थितियों से निकलकर देश का नेतृत्व कर रहे हैं. ये हमारे लिए गर्व की बात है. यदि उन पर कोई उंगली उठाएगा तो उसका हाथ काट देंगे." मालूम हो कि राय, वैश्य और कनु समुदाय के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने मोदी की पीएम बनने तक के सफर को लेकर राय ने कहा कि, "मोदी की मां ने खाना परोसने का काम किया. आज उस परिस्थिति से उठकर वो देश के पीएम बने हैं. एक गरीब का बेटा पीएम बना है, उसका स्वाभिमान होना चाहिए. हर व्यक्ति को इसकी इज्जत करनी चाहिए." उन्होंने आगे कहा कि उनकी ओर उठने वाली उंगली और हाथ को हम सब मिलकर तोड़ देंगे और जरुरत पड़ी तो काट भी डालेंगे. बता दें कि इस कार्यक्रम के दौरान बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी समेत बीजेपी के कई बड़े नेता मौजूद थे.बयान को लेकर नित्यानंद राय से मीडिया ने जब सवाल पूछे तो उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि, "मैंने हाथ काटने वाली बात एक मुहावरे के रूप में कही थी. इसे विपक्षी पार्टी और आम आदमी से जोड़ कर नहीं देखा जाए. मोदी के संघर्ष पर सवाल उठाना गलत है." राय के बयान के बाद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने बीजेपी पर तीखा वार किया. उन्होंने कहा कि, "बीजेपी किस बात पर गर्व कर रही है. उनके पास गर्व करने लायक कुछ भी नहीं है." बता दें कि विवादित बयान देने वाले सांसद नित्यानंद राय दिसंबर 2016 में बिहार बीजेपी के अध्यक्ष बनाए गए थे. फिलहाल वे उजियारपुर से लोकसभा सांसद हैं. कहा जाता है कि उन्हें यादव वोट बैंक में जड़े जमाने के लिए बीजेपी ने मैदान में उतारा था.

संसद सत्र को लेकर भाजपा का सोनिया और राहुल पर वार-
नई दिल्ली। संसद के शीतकालीन सत्र को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांदी के केंद्र सरकार पर हमले के बाद भाजपा ने भी इस पर पलटवार किया है।केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली और भाजपा महासचिव भूपेंद्र यादव ने तंज कसते हुए पूछा कि कांग्रेस में संसद के प्रति इतनी आस्था कैसे जग गई। अगले कुछ दिनों मे कांग्रेस अध्यक्ष की कमान संभालने जा रहे राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि इतने सालों में उनकी उपस्थिति संसद में कभी भी अच्छी नहीं रही। सोमवार को सोनिया ने कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में केंद्र पर हमला किया था। जेटली ने राजकोट से और भूपेंद्र ने बयान जारी कर उसका जवाब दिया। जेटली ने कहा कि चुनाव के वक्त में संसद का सत्र पहले भी टलता रहा है। वहीं भूपेंद्र ने 1981, 1990, 1993, 2011 का हवाला देते हुए संसद के सत्र टलने की बात कही। वस्तुत: 1990 में तो शीतकालीन सत्र क्रिसमस के बाद शुरू हुआ था और मध्य जनवरी तक चला था।भूपेंद्र यादव ने राहुल के संसद में मौजूदगी को लेकर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि 16वीं लोकसभा में उनकी उपस्थिति 54 फीसद रही, जबकि 15वीं लोकसभा में 43 फीसद थी। ऐसे में सत्र के प्रति कांग्रेस का मोह और आकर्षण समझ से परे है। गौरतलब है कि सामान्यतया शीतकालीन सत्र नवंबर के आखिरी सप्ताह से लेकर क्रिसमस तक होता है। लेकिन इस बार विधानसभा चुनाव को लेकर अब तक सत्र शुरू नहीं हुआ है।

जम्मू-कश्मीर में 'ऑपरेशन ऑल आउट', हंदवाड़ा में लश्कर के 3 आतंकी ढेर-
नई दिल्लीः जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों आतंकियों के सफाए के लिए चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट के तहत मंगलवार को सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस की ज्वाइंट टीम ने तीन आतंकियों को मार गिराया है. आतंकियों के साथ यह मुठभेड़ मंगलवार सुबह कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा में हुई. इस मुठभेड़ में भारतीय सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया. बताया जा रहा है कि मारे गए तीनों आतंकी लश्कर ए तैयबा के बताए जा रहे हैं. जम्मू कश्मीर पुलिस के मुताबिक मारे गए तीनों आतंकी पाकिस्तान के है. जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी एसपी वैद ने ट्वीट कर इस खबर की जानकारी दी है. उन्होंने लिखा कि, 'उत्तरी कश्मीर के हंदवाड़ा के मगम इलाके में सुरक्षाबलों ने लश्कर के तीन आतंकियों को मार गिराया है. शानदार काम.' आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में आतंकियों पर सुरक्षाबलों की कार्रवाई के बाद अब भटके हुए परिवारों ने अपने बेटों से घर लौटने की अपील कर रहे हैं. यहां सुरक्षाबलों द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट के तहत आतंकियों का लगातार सफाया जारी है. सेना ने यहां आतंकियों के लिए दो ही रास्ते छोड़े हैं या तो वह सरेंडर कर दें या फिर मरने के लिए तैयार हो जाएं.

ICJ में भारत के दलवीर भंडारी चुने गए, कांटे की टक्कर में ब्रिटेन बाहर, कहा- करीबी दोस्त भारत की जीत से खुश हैं-
संयुक्त राष्ट्र: अंतरराष्ट्रीय अदालत में भारत की ओर से नामित दलवीर भंडारी के निर्वाचन पर ब्रिटेन का कहना है कि वह करीबी दोस्त भारत की जीत से खुश है. भंडारी की जीत ब्रिटेन द्वारा चुनाव से अपना प्रत्याशी वापस लिये जाने के कारण संभव हुई है. संयुक्त राष्ट्र महासभा में भंडारी को 193 में से 183 वोट मिले जबकि सुरक्षा परिषद् में सभी 15 मत भारत के पक्ष में गये. इस चुनाव के लिए न्यूयॉर्क स्थित संगठन के मुख्यालय में अलग से मतदान करवाया गया था. इस दौर के मतदान से पहले ब्रिटेन द्वारा बड़े ही आश्चर्यजनक तरीके से अपना प्रत्याशी वापस लिये जाने के कारण हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत के लिए भंडारी का पुन:निर्वाचन संभव हो सका है.आईसीजे में अपने पुन:निर्वाचन के लिए भंडारी और ब्रिटेन के क्रिस्टोफर ग्रीनवुड के बीच कांटे की टक्कर थी. ऐसा माना जा रहा था कि सुरक्षा परिषद् में स्थाई सदस्य अमेरिका, रूस, फ्रांस और चीन ग्रीनवुड के पक्ष में हैं. गौरतलब है कि ब्रिटेन सुरक्षा परिषद् का पांचवा स्थाई सदस्य है.

ईरान-इराक सीमा के बाद अब न्यू कैलेडोनिया के पूर्वी भाग में 7.3 तीव्रता का भूकंप-
सिडनी: न्यू कालेडोनिया के पूर्वी भाग में आज 7.3 तीव्रता का तेज भूकंप आया. यह देश प्रशांत क्षेत्र के टेक्नोनिक रूप से सक्रिय जगह पर स्थित है. भूकंप की तीव्रता की सूचना अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण ने दी. सर्वेक्षण के अनुसार, भूकंप का अधिकेन्द्र कम आबादी वाले लॉयलटी आईलैंड्स से करीब 85 किलोमीटर पूर्व में लगभग 25 किलोमीटर की गहराई में था.गौरतलब है कि 13 नवंबर को ईरान-इराक बॉर्डर पर भी 7.3 तीव्रता का भूकंप आया था, जिसमें 300 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी और हजारों लोग घायल हो गए थे. इस घटना में कई इमारतें धराशाई हो गई थीं. माना जा रहा है कि भूकंप के बाद मची तबाही से उबरने में स्थानीय लोगों को काफी समय लगेगा.

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन की सेहत इतनी खराब? चलने-फिरने में भी दिक्कत-
अंतरराष्ट्रीय समुदाय के दबाव के बावजूद लगातार मिसाइल परीक्षण करने वाले उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग- उन की सेहत खराब बताई जा रही है। दरअसल, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तर कोरिया ने बीते 2 महीने में कोई भी बलिस्टिक मिसाइल लॉन्च नहीं किया है, जिसकी वजह से यह उसके नेता की सेहत को लेकर कयास लगाए जाने शुरू हो चुके हैं। 'डेली स्टार' के मुताबिक, अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के साथ लगातार जुबानी जंग करने, दो बार जापान के ऊपर से मिसाइल लॉन्च करने और अपने परमाणु हथियार कार्यक्रम को तेजी से बढ़ाने वाले किम जोंग-उन ने बीते 60 दिनों से चुप्पी साध रखी है। हाल की तस्वीरों में साफ दिखता है कि किम का वजन दोबारा बढ़ गया है और उन्हें चलने-फिरने में भी दिक्कत हो रही है। हाल ही में जब 33 साल के किम अपनी पत्नी के साथ कॉस्मेटिक प्रॉडक्ट्स की फैक्ट्री पहुंचे थे तो वह ठीक से चल नहीं पा रहे थे और उन्हें बार-बार फोल्डिंग चेयर की जरूरत पड़ रही थी। इसके अलावा जब किम जूते की फैक्ट्री में पहुंचे तो वह पसीने से लथपथ दिखे। डेली स्टार का दावा है कि किम जोंग गठिया, डायबीटीज़, दिल की बीमारी और हाइपरटेंशन से जूझ रहे हैं। तीन साल पहले कुछ जासूसों द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट में भी दावा किया गया था कि उत्तर कोरिया का नेता बनने के बाद से किम का 40 किलो वजन बढ़ा है। साल 2011 में किम जोंग-इल की दिल का दौरा पड़ने से निधन के बाद उनके बेटे किम जोंग-उन को देश की सत्ता दी गई थी। तभी से दक्षिण कोरियाई एजेंसियां दावा करती आई हैं कि किम जोंग उन नींद की बीमारी से जूझ रहे हैं।

आसमान छू रहे अंडे के दाम, थोक मूल्य में हुई 15 फीसदी बढ़ोतरी-
ठंड अभी ठीक से शुरू भी नहीं हुई कि अंडे के दाम आसमान छूने लगे हैं. कुछ दिनों पहले तक जो अंडा 5 रुपये में मिलता था अब वो 7 रुपये में मिलने लगा है. पुणे में किसान 100 अंडों की क्रेट को 585 रुपये में बेच रहे हैं. इसका मतलब है रिटेल में अंडा 6.5-7.5 रुपये की कीमत में मिल रहा है. बता दें कि पिछले छह महीनों में पुणे में 100 अंडों की क्रेट की कीमतों में बड़ा उछाल आया है, जो 375 रुपये से बढ़कर 585 रुपये तक पहुंच गई हतमिलनाडु के इरोड में स्थित एक अंडा उत्पाद निर्माता ने बताया कि सर्दी की मांग के कारण अंडे की कीमतों में आम तौर पर वृद्धि होती है, जबकि ब्रॉयलर दरों में कमी आती है क्योंकि आपूर्ति में वृद्धि होती है. लेकिन अंडे की कीमतों में इतनी बढ़ोतरी कभी नहीं देखने को मिली. राष्ट्रीय अंडे समन्वय समिति (एनईसीसी) के कार्यकारी सदस्य राजू भोंसले ने अंडे कीमतों में बढ़ोतरी को मांग में अनुमानित 15 फीसदी की बढ़ोतरी को श्रेय दिया. साथ ही उन्होंने कहा कि जब सब्जियां बहुत महंगी हो जाती हैं, तो लोग अंडे पर जाते हैं, इसके साथ ही साथ अंडों की कीमत भी बढ़ जाती है. बता दें कि रिटेल में प्याज और टमाटर 40-50 रुपये प्रति किलोग्राम बिक रहे हैं, जबकि फूलगोभी और बैंगन के दाम 60-100 रुपये तक की ऊंची कीमतों पर है.वहीं एनईसीसी के मैसूर ज़ोन के अध्यक्ष के पी सतीश बाबू ने अंडों की कीमतों में तेजी को नोटबंदी से जोडा. उन्होंने कहा कि 500 और 1,000 रुपये को अचानक बंद करने से अंडों की मांग में कमी हुई.

इजरायल के साथ 500 मिलियन डॉलर की डील रद्द, अब DRDO बनाएगा स्पाइक मिसाइल-
मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के क्रम में रक्षा मंत्रालय ने इजरायल के साथ स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल के लिए 500 मिलियन डॉलर की डील को रद्द कर दिया है. मंत्रालय अब मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (MPATGM) स्वदेश में ही बनाना चाहता है. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) को इस मिसाइल को बनाने की जिम्मेदारी दी गई है. डीआरडीओ को इस तकनीक की मिसाइल बनाने में तीन से चार साल लग जाएंगे. खबरों के मुताबिक इजरायल के साथ डील रद्द करने की मुख्य वजह भारत में ही अत्याधुनिक हथियारों के निर्माण को बढ़ावा देना है. इस डील से डीआरडीओ के स्वदेशी हथियार बनाने की तैयारी पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ना माना जा रहा था. इसीलिए मंत्रालय ने इजरायल के साथ तीसरी पीढ़ी की स्पाइक मिसाइल बनाने की डील को रद्द कर दिया है. पिछले साल इजरायल से राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम की डील होने के बाद स्पाइक मिसाइल की डील को भारत-इजरायल के संबंधों में और मजबूती के रूप में देखा जा रहा था. इस डील के बाद ही इजरायल के राफेल और कल्याणी ग्रुप के साथ भारत में ही मिसाइल बनाने पर सहमति बनी थी. हैदराबाद के पास इसके लिए एक आधुनिक प्लांट बनाया जा रहा था. इससे पहले डीआरडीओ ‘नाग’ और ‘अनामिका’ जैसी एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल बना चुका है. डीआरडीओ को यकीन है कि अगले तीन से चार सालों में बिना किसी विदेशी मदद के वह भी तीसरी पीढ़ी की मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (MPATGM) बनाने में सक्षम हो जाएगा.

राहुल गांधी की 'ताजपोशी' को लेकर कांग्रेस की बड़ी बैठक आज-
नई दिल्ली: गुजरात के सियासी रण में राहुल जिस रंग में दिख रहे हैं...वो रंग अब और चोखा होने वाला है. कांग्रेस अपने युवराज को सरताज बनाने की तैयारी में जुट गई है. सूत्रों की मानें तो विधानसभा चुनावों से ऐन पहले राहुल गांधी को पार्टी आलाकमान की कुर्सी सौंपी जा सकती है. जिसकी औपचारिक शुरुआत आज दिल्ली में कांग्रेस की सबसे ताकतवर कमेटी यानि CWC की बैठक में हो सकती है. आज सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में CWC आज अध्यक्ष पद के लिए चुनाव की अधिसूचना जारी कर सकती है. सूत्रों की मानें तो नए अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया को गुजरात चुनाव से पहले की पूरा कर लिया जाएगा.अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य अध्यक्ष पद के लिए प्रदेश कांग्रेस कमिटी के सदस्य वोट करते हैं. हालांकि कांग्रेस में नए अध्यक्ष का जो चुनाव होने जा रहा है वो महज औपचारिकता है क्योंकि राहुल के सामने किसी और के उम्मीदवार बनने की कोई संभावना नहीं है. इसके अलावा ताजा सांगठनिक चुनावों के बाद नई चुनी गई प्रदेश कमिटियां राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पास कर चुकी हैं. कांग्रेस को इस साल के अंत तक सांगठनिक चुनाव पूरा करना है. नए अध्यक्ष के चुने जाने के बाद अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के अधिवेशन में इस पर मुहर लगेगी और नई कांग्रेस वर्किंग कमिटी चुनी जाएगी. कांग्रेस वर्किंग कमिटी पार्टी में फैसले लेने वाली सर्वोच्च इकाई है.फिलहाल 1998 से सोनिया गांधी कांग्रेस की अध्यक्ष हैं. 47 साल के राहुल गांधी 2004 से संसद में उत्तरप्रदेश के अमेठी का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. जिस तरहगुजरात चुनाव के पहले राहुल की ताजपोशी होने वाली है ऐसे में गुजरात चुनाव कांग्रेस के लिए काफी अहम हो जाता है.

कांग्रेस से संघर्ष के बाद हार्दिक पटेल की राजकोट रैली पर जमी निगाहें-
अहमदाबाद: कांग्रेस के साथ आरक्षण फॉमूले पर पहले सहमति और बाद में विवाद होने के बाद पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पास) के नेता हार्दिक पटेल की सोमवार को राजकोट में होने वाली रैली पर सभी की निगाहें जम गई हैं. दरअसल हार्दिक पटेल आज राजकोट में रैली के माध्य म से कांग्रेस के फॉर्मूले को सबके समक्ष पेश करने वाले थे. आज ही राजकोट पश्चिम से मुख्य मंत्री विजय रूपानी अपना पर्चा दाखिल करने वाले हैं. इस कड़ी में भी इस रैली को अहम माना जा रहा है. इसी बीच कांग्रेस ने देर शाम 77 प्रत्यांशियों की सूची जारी कर दी. उसमें हार्दिक पटेल के दो करीबी नेताओं को टिकट दे दिया गया. इसी बात से पास नेता नाराज हो गए. उन्होंरने सवालिया लहजे में कहा कि आखिर कांग्रेस ने बिना हमसे पूछे हमारे दो नेताओं को किस आधार पर टिकट दे दिया. माना जा रहा है कि संघर्ष की शुरुआत पास नेता दिनेश पटेल और गुजरात कांग्रेस अध्यधक्ष भरत सिंह सोलंकी के घर के बाहर तैनात पुलिसकर्मी के बीच झड़प से हुई. पाटीदार नेता ने कहा कि उनको सोलंकी के घर पर बैठक के लिए बुलाया गया था लेकिन उनको बाहर कई घंटों तक इंतजार कराया गया. प्रथम दृष्ट तया यहीं से दोनों पक्षों के बीच झड़प शुरू हो गई.

मूडीज ने 13 साल बाद बदली भारत की रैकिंग, बयान में कहा- नोटबंदी और GST ने दुनिया को चौंकाया-
नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार के लिए एक बड़ी खुशखबरी आई है। दरअसल, अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत की रैकिंग में जबर्दस्त सुधार किया है। साथ ही केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियों की तारीफ करते हुए नोटबंदी और जीएसटी के फैसलों की तारीफ की है। भारत में भले ही मोदी सरकार के फैसलों और आर्थिक नीतियों का विपक्ष विरोध कर रहा हो, लेकिन मूडीज ने इन फैसलों को सही माना है। अमरीका की रेटिंग एजेंसी मूडीज ने लंबे समय के बाद भारत की रैंकिंग में बदलाव किया है। आपको बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के बाद मोदी सरकार में मूडीज ने भारत की रैंकिंग में बदलाव किया है। भारत की अर्थव्यवस्था में हुआ जबर्दस्त सुधार मूडीज के द्वारा रैंकिंग में सुधार के बाद भारत BAA3 से BAA2 ग्रुप में आ गया है। अमरीकी रेटिंग एजेंसी ने इस सुधार की वजह भारत के आर्थिक और संस्थागत सुधारों को बताया है। वहीं BAA2 ग्रुप में भारत के आने का सीधा अर्थ है कि मोदी राज में भारत की अर्थव्यवस्था में जबर्दस्त सुधार हुआ है। रैंकिंग को पॉजिटीव से स्थिर किया गया है। इसके बाद भारत में विदेशी निवेश भी बढ़ेगा और इस साल विकास 6.7 रहने का अनुमान है। 13 साल बाद हुआ है रैंकिंग में बदलाव आपको बता दें कि मूडीज की रैंकिंग में 13 साल बाद कोई बदलाव हुआ है। इससे पहले 2004 में भारत की रेटिंग में BAA3 हुई थी। 2015 में रेंटिंग को स्टेबल से पॉजिटिव की कैटेगिरी में रखा गया था और अब पॉजिटिव से स्थिर किया गया है। मूडीज ने अपने बयान में कहा कि रेटिंग में सुधार देश की सरकार द्वारा लिए जा रहे निर्णयों, उनका अर्थव्यवस्था पर किस तरह का असर पड़ रहा है उन आधारों पर लिया जाता है। मूडीज ने कहा कि भारत ने पिछले कुछ समय में इन कदमों को उठाया है, मोदी सरकार सरकारी कर्ज को भी कम करने की ओर कदम उठा रही है। नोटबंदी और जीएसटी ने दुनिया को चौंकाया मूडीज ने रिपोर्ट में कहा है कि भारत जिस तरह से आर्थिक सुधारों के लिए कड़े फैसले ले रहा है। उससे आने वाले समय में भारत की अर्थव्यवस्था को जबर्दस्त फायदा होगा। मूडीज ने कहा नोटबंदी और जीएसटी की तारीफ करते हुए कहा कि इन कड़े फैसलों ने दुनिया को चौंका दिया है। जीएसटी के कारण देश में अंतर्राज्यीय व्यापार में काफी फायदा मिलेगा। इसके अलावा आधार, डॉयरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर स्कीम जैसे सुधारों से भी नॉन परफॉर्मिंग लोन और बैंकिंग सिस्टम में सुधार हुआ है।

गुजरात चुनाव: BJP की 'नो रिपीट' पॉलिसी, काट सकती है 35 से 40 प्रतिशत मौजूदा विधायकों के टिकट-
अहमदाबाद : गुजरात में टिकट बंटवारे को लेकर गुरुवार को गांधी नगर में बीजेपी की बैठक देर रात तीन घंटे तक चली. इस बैठक में फैसला लिया गया कि बीजेपी नो रिपीट पॉलिसी को कड़ाई से लागू करने की तैयारी में है. इसमें बीजेपी 35 से 40 फीसदी मौजूदा विधायकों का टिकट काटने का अंदेशा है. बीजेपी सूत्रों के अनुसार, गुजरात में पार्टी मौजूद 121 विधायकों में से 35 के टिकट काट सकती है जिनमें छह मंत्री भी हैं. इससे युवाओं को ज्या दा मौका मिलने की उम्मीद है. हार्दिक पटेल से अलग होकर बीजेपी में शामिल होने वाले लोगों को टिकट मिलने के आसार बढ़ गए हैं. हालांकि कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए विधायकों को टिकट देने पर कई बीजेपी नेताओं ने आपत्ति जताई है, जिससे उनकी राह मुश्किल होती नजर आ रही है. वहीं सूत्रों के हवाले से खबर है कि कांग्रेस शुक्रवार को उम्मीहदवारों का एलान करेगी, जहां ज्या दा विरोध नहीं है या बीजेपी से नेताओं के टूटकर आने की ज्यावदा उम्मीद नहीं हैं. कांग्रेस अभी भी इस उम्मीद में है कि अगर बीजेपी ने टिकट नहीं दिया तो कई नेता कांग्रेस के पाले में जा सकते हैं.

बलूचिस्तान में पाकिस्तान की बर्बरता, गोलियों से छलनी 15 शव बरामद-
पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत के केच जिले में बुधवार को सुरक्षा बलों ने गोलियों से छलनी कम से कम 15 शव बरामद किए। एक सरकारी अधिकारी ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि जिले के बुलेडा तहसील के गोरक क्षेत्र में यह शव पाए गए। शवों की शिनाख्त व पोस्ट-मार्टम के लिए इन्हें तरबात के जिला मुख्यालय अस्पताल ले जाया गया है। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि लोगों की हत्या के पीछे वजह क्या है, लेकिन इसे मानव तश्करी से जुड़ा मामला माना जा रहा है। उन्होंने कहा कि हालांकि अभी यह पता नहीं चल पाया है कि यह लोग मजदूर थे या घुसपैठिए। शव बलूचिस्तान लेवी के कर्मचारियों ने बरामद किए हैं। बलूचिस्तान लेवी एक अर्धसैनिक बल है, जो एक कानून प्रवर्तन एजेंसी के रूप में इस अशांत प्रांत में तैनात है और कानून व व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी संभालता है। बताया जाता है कि पाकिस्तान और साउथ एशियन देशों में मानव तश्करी की वारदातें लगातार बढ़ रही है। साथ ही इन बॉर्डर इलाकों में लोगों की मौत की घटनाएं बढ़ रही हैं।

OBOR को लेकर चीन-पाक में दिखने लगी दरार, पाकिस्तान ने किया फंड लेने से इंकार-
'वन बेल्ट वन रोड' (ओबीओआर) प्रोजेक्ट के अंतगर्त आने वाले एक डैम को लेकर की जाने वाली फंडिंग पर पाकिस्तान और चीन के बीच मतभेद दिखने लगे हैं। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक पाकिस्तान ने 'डायमर भाषा डैम' के लिए 14 मिलियन डॉलर की मदद के चीन के ऑफर को ठुकरा दिया है। इस विवाद के बाद दोनों ही देशों के ओबीओआर प्रोजेक्ट को एक बड़ा झटका माना जा रहा है। हालांकि, पाकिस्तान ने चीन से मांग की है कि वह इस विवाद का असर दोनों देशों के CPEC प्रोजेक्ट पर नहीं पड़ने देगा। इससे पहले एशियन डेवलपमेंट बैंक ने इस प्रोजेक्ट को फाइनेंस करने से मना कर दिया था, क्योंकि यह प्रोजेक्ट विवादित क्षेत्र में आता है। पाकिस्तान में जल एवं ऊर्जा विकास विभाग के चेयरमेन हुसैन ने कहा कि डैम को लेकर चीन की तरफ से कई ऐसी शर्तें रखी गई हैं जो अपनाने लायक नहीं हैं। पाकिस्तान के इस रवैये से चीन में उथल-पुथल मच गई है, क्योंकि चीन के एक विशेषज्ञ ने कहा है कि अगर पाकिस्तान अपने कदम पीछे खींच रहा है तो इसका सीधा असर CPEC पर पड़ सकता है।

फारूक अब्दुल्ला ने फिर उगला जहर, कहा- पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहनी है-
श्रीनगर: नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला ने बुधवार को एक बार फिर विवादास्पद बयान दे दिया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं और उसके पास भी परमाणु बम है, वह भारत को जम्मू-कश्मीर के अपने कब्जे वाले हिस्से पर नियंत्रण नहीं करने देगा. पिछले हफ्ते फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि ‘‘पीओके पाकिस्तान का है.’’ उत्तर कश्मीर के बारामूला जिले के उरी सेक्टर में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम कब तक कहते रहेंगे कि पीओके हमारा हिस्सा है? पीओके उनके बाप की जागीर नहीं है. पीओके पाकिस्तान में है और यह (जम्मू-कश्मीर) भारत में है.’’ उन्होंने कहा कि 70 साल हो गए लेकिन ‘‘भारत, पीओके को हासिल नहीं कर सका.’’ फारूक अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘आज, वे (भारत) दावा करते हैं कि ये हमारा है . तो इसे (पीओके) हासिल कर लीजिए, हम भी कह रहे हैं कि कृपया इसे (पाकिस्तान से) हासिल कर लीजिए. हम भी देखेंगे. वे (पाकिस्तान) इतने कमजोर नहीं हैं और उन्होंने कोई चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं. उनके पास भी एटम बम है. युद्ध के बारे में सोचने से पहले हमें सोचना होगा कि इंसान के रूप में हम कैसे रहेंगे?’’ श्रीनगर से लोकसभा के सांसद ने पिछले हफ्ते भी विवादास्पद टिप्पणी की थी. उन्होंने कहा था कि पीओके पाकिस्तान का है और दोनों देश कितना भी लड़ लें, ये बदलने वाला नहीं है. उन्होंने कहा था, ‘‘मैं न केवल भारत के लोगों बल्कि दुनिया से भी सीधे शब्दों में कहता हूं कि जम्मू-कश्मीर का जो हिस्सा पाकिस्तान के पास है (पीओके) वह पाकिस्तान का है और इस तरफ का हिस्सा भारत का है. यह नहीं बदलेगा. वे चाहे जितनी लड़ाइयां लड़ लें. इसमें बदलाव नहीं होगा.’’ उनके बयान पर बीजेपी ने भी तीखी प्रतिक्रिया जताई थी और बिहार में उनके खिलाफ मामला भी दर्ज हुआ था.

मोदी का जलवा बरकरार, 'अभी भी' देश के सबसे लोकप्रिय नेता: अमेरिकी थिंक टैंक प्यू-
नई दिल्ली: गुजरात चुनाव के बीच बीजेपी के लिए एक अच्छी खबर आई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय राजनीति में आज भी सबसे लोकप्रिय नेता है. ये दावा एक अमेरिकी थिंक टैंक की सर्वे एजेंसी प्यू ने किया है. सर्वे के मुताबिक कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के मुकाबले पीएम मोदी 30 प्वाइंट आगे हैं. राहुल गांधी 58 फीसदी लोगों की पसंद है. वहीं पीएम मोदी को 88 फीसदी लोगों ने सबसे लोकप्रिय नेता के रूप में चुना है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी 57 फीसदी लोगों की पसंद हैं, सीएम अरविंद केजरीवाल 39 फीसदी के साथ चौथे सबसे लोकप्रिय नेता हैं ये सर्वे भारत में इस साल 21 फरवरी से 10 मार्च के बीच किया गया था. सर्वे को लेकर प्यू एजेंसी ने कहना है कि 'भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ा है और लोग बदलाव को सकारात्मक तौर पर ले रहे हैं जिससे मोदी की लोकप्रियता कायम है.' सर्वे में 10 में से 8 लोगों ने माना कि भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत अभी अच्छी है. सर्वे में 30 फीसदी व्यस्कों ने भारतीय अर्थव्यवस्था को बेहतर माना है. प्यू के सर्वे में सबसे बड़ी बात यह निकलकर सामने आई है पीएम मोदी जिस दिशा में देश को आगे लेकर बढ़ रहे हैं उससे 10 में से 7 लोग खुश हैं.

राफेल लड़ाकू विमान सौदा: मोदी सरकार पर कांग्रेस के आरोपों को फ्रांस ने किया खारिज, रिलायंस ने दी मुकदमे की धमकी-
नई दिल्ली : 36 राफेल लड़ाकू विमानों के सौदे को लेकर कांग्रेस द्वारा नरेंद्र मोदी सरकार पर लगाए गए सभी आरोपों को फ्रांस ने खारिज कर दिया है. कांग्रेस का आरोप है कि नरेंद्र मोदी सरकार ने फ्रांस की कंपनी डसाल्ट एवियेशन के साथ राफेल लडाकू विमानों खरीदने को लेकर जो समझौता किया है उसमें ज्याादा पैसा दिए गए है. डसाल्ट एवियेशन ने भारतीय वायुसेना को 36 राफेल लड़ाकू विमान देने हैं. वहीं अनिल अंबानी के नेतृत्वल वाली रिलायंस डिफेंस लिमिटेड ने कांग्रेस को कहा है कि वह अपने आरोप वापस ले नहीं तो वह उस पर मुकदमा करेंगे. कांग्रेस का आरोप है कि फ्रांस की कंपनी ने भारतीय पाटर्नर (रिलायंस डिफेंस) को गलत तरीके से चुना है. कांग्रेस के आरोपों पर फ्रांस के राजनयिक सूत्रों का कहना है कि लड़ाकू विमान को उत्कृष्ट प्रदर्शन और प्रतिस्पर्धी मूल्य के लिए चुना गया है. उन्हों ने कहा है कि राफेल को पूरी तरह पारदर्शी और प्रतिस्पर्धी प्रक्रिया के माध्यम से चुना गया था. उन्होंंने कहा कि ये एक घरेलू राजनीतिक मामला और वह उसमें दखल नहीं देना चाहते हैं. कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने फ्रांस की कंपनी से 58,000 करोड़ (7.8 अरब यूरो) में 36 राफेल विमान खरीदने का सौदा किया है जो टैक्स0 देने वाले लोगों का कमाई है. कांग्रेस का आरोप है कि वर्ष 2012 में यूपीए सरकार ने फ्रांस से एयरक्राफ्ट खरीदने के लिए जितने में समझौता किया था. उससे तीन गुना ज्यांदा रकम देकर मोदी सरकार एयरक्राफ्ट खरीद रही है. इतना ही नहीं पार्टी का आरोप है कि सरकार सिर्फ एक इंड्रस्टियल ग्रुप रिलायंस डिफेंस लिमिटेड को क्यों फायदा पहुंचा है. इस कंपनी ने फ्रांस की डसाल्ट एवियेशन के साथ मिलकर 30 करोड़ रुपये का निवेश किया है?

राम मंदिर विवाद: श्री श्री आज अयोध्या जाएंगे, योगी बोले- चर्चा के लिए देर हो गई-
अयोध्या. राम मंदिर मुद्दे को कोर्ट के बाहर सुलझाने के लिए श्री श्री रविशंकर गुरुवार को अयोध्या जाएंगे। यहां वे हिंदू- मुस्लिम पक्षकारों से बात करेंगे। इससे पहले उनकी इस कोशिश को बड़ा झटका लगा है। गुरुवार को योगी आदित्यनाथ ने कहा- सुप्रीम कोर्ट में रोजाना सुनवाई हो रही है। इसलिए बातचीत का मतलब मुझे समझ में नहीं आता है। उन्होंने कहा कि उनसे मेरी मुलाकात शिष्टाचार के तौर पर हुई थी। दोनों की बीच करीब 30 मिनट तक मीटिंग चली थी। बता दें कि बाबरी मस्जिद विवाद को सुलझाने के लिए रविशंकर मध्यस्थता कर रहे हैं। हालांकि, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी समेत कई लोगों ने उनकी मध्यस्थता को लेकर सवाल उठाए हैं। - सीएम आदित्यनाथ ने कहा- " श्री श्री रविशंकर को लखनऊ आना था, इसलिए मेरे पास उनका आना हुआ। 5 दिसंबर से सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर रहा है। बातचीत से समाधान होना था तो बहुत पहले हो चुका होता। फिर भी संभावना है तो कोई बुराई नहीं। सरकार इसमें कोई पक्ष नहीं है। सरकार अपनी तरफ से फिलहाल कोई पहल नहीं करेगी, जबकि केस सुप्रीम कोर्ट में है।

योगी से मिले श्री श्री, कल जाएंगे अयोध्या, क्या बनेगी राम मंदिर मुद्दे पर बात?-
राम मंदिर मुद्दे पर मध्यस्थता कर रहे आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर ने बुधवार सुबह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. दोनों के बीच करीब आधे घंटे तक CM हाउस में मुलाकात हुई. श्री श्री रविशंकर 16 नवंबर को अयोध्या भी जाएंगे. CM योगी से मिलने के बाद श्री श्री रविशंकर कई अन्य लोगों से भी मुलाकात करेंगे. इनमें दिगंबर अखाड़ा, निर्मोही अखाड़ा, राष्ट्रीय मुस्लिम मंच, शिव सेना, हिंदू महासभा के अलावा विनय कटियार से भी मुलाकात का भी कार्यक्रम है. इसी बीच शिया वक्फ बोर्ड में अलग सुर सुनाई दिए गए हैं. शिया वक्फ बोर्ड के प्रवक्ता यसूब अब्बास ने कहा है कि वह इस मुद्दे पर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल बोर्ड लॉ के साथ हैं. यानी इनके विचार शिया वक्फ बोर्ड के प्रमुख वसीम रिजवी के रुख से बिल्कुल अलग हैं. श्री श्री रविशंकर से मुलाकात को लेकर फिरंगी महली के खालिद रश्दी फिरंगी का कहना है कि वह एक बड़े आध्यात्मिक गुरू हैं, हम उनका सम्मान करते हैं. अगर उनके पास इस मुद्दे का कोई हल है तो उन्हें सुप्रीम कोर्ट के सामने इसका हल रखना चाहिए. लेकिन अगर इसमें कोई राजनीतिक हस्तक्षेप होता है तो इसका हल निकलना मुश्किल हो जाएगा. खालिद रश्दी ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कोर्ट के फैसले के आधार पर काम करेगा, हमें किसी तरह का कोई पत्र नहीं मिला है.

बेनामी संपत्ति पर आयकर विभाग सख्त, महंगी प्रॉपर्टी पर नजर-
आयकर विभाग उन लोगों के नाम खंगाल रहा है, जिन्होंने 30 लाख रुपये से अधिक मूल्य वाली प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री कराई है। विभाग यह काम बेनामी संपत्ति कानून के तहत कर रहा है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने यह जानकारी दी। चंद्रा ने बताया कि बेनामी संपत्ति के तहत अब तक 621 प्रॉपर्टी जब्त की गई हैं। कई बैंक खाते भी विभाग की इस कार्रवाई की जद में आए हैं। इन मामलों में करीब 1,800 करोड़ रुपये की रकम शामिल है। उन्होंने कहा कि आयकर विभाग उन मुखौटा कंपनियों और उनके निदेशकों की भी जांच कर रहा है, जिन पर पिछले दिनों प्रतिबंध लगाया गया है। इसके अलावा जिन लोगों ने नोटबंदी के दौरान भारी मात्र में पुराने नोट जमा कराए हैं, विभाग उनके खिलाफ नोटिस जारी करेगा। टैक्स प्रोफाइल की होगी जांच: सीबीडीटी प्रमुख ने कहा, ‘हम उन सभी रास्तों को बंद कर देंगे, जिनका इस्तेमाल काले धन को सफेद करने में किया जाता है। इनमें मुखौटा कंपनियां भी शामिल हैं। साथ ही विभाग 30 लाख रुपये से अधिक मूल्य की रजिस्ट्री वाली सभी प्रॉपर्टी मालिकों के टैक्स प्रोफाइल की भी जांच कर रहा है। प्रोफाइल संदिग्ध पाए जाने पर उनके खिलाफ बेनामी संपत्ति कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।’ चंद्रा के मुताबिक कर अधिकारी बेनामी प्रॉपर्टी से जुड़े मामलों पर तेजी से काम कर रहे हैं। बेनामी कानून का पालन करने के लिए 24 इकाइयां शुरू की गई हैं। कई तरह के स्नोतों से जानकारी खंगाली जा रही है। हाल ही में बंद कराई गई मुखौटा कंपनियों की भी जांच की जा रही है। अगर ऐसी फर्मो के पास बेनामी प्रॉपर्टी है या इन्होंने कोई ऐसा वित्तीय लेनदेन किया है, जिसका उनके टैक्स प्रोफाइल से मिलान नहीं है तो वे भी कार्रवाई की जद में आएंगी

अमेरिका के कैलिफोर्निया में फायरिंग में 4 की मौत, कई घायल-
कैलिफोर्निया: ग्रामीण उत्तरी कैलिफोर्निया के एक प्राथमिक विद्यालय सहित कई इलाकों में एक बंदूकधारी द्वारा की गई गोलीबारी में चार लोगों की मौत हो गई और करीब एक दर्जन अन्य लोग घायल हुए है. पुलिस ने हमलावर को मार गिराया है. दो अस्पतालों ने बताया कि वे सात लोगों का इलाज कर रहे हैं. इनमें कम से कम तीन बच्चे शामिल हैं. तेहामा काउंटी सहायक शेरिफ फिल जॉनस्टन ने बताया कि अधिकारियों के पास घायलों का सही आंकड़ा मौजूद नहीं है क्योंकि बंदूकधारी ने कम्युनिटी में कई जगह गोलीबारी की है. जॉनस्टन ने बताया कि हमलावर को पुलिस ने मार गिराया है. उसने स्थानीय समायनुसार सुबह आठ बजे गोलीबारी शुरू की थी. हमलावर ने एक प्राथमिक विद्यालय सहित, रांचो तहमा रिजर्व सहित कई घरों और कम्युनिटी के कई इलाकों में गोलीबारी की. उन्होंने बताया कि मृतकों में बच्चें शामिल नहीं हैं और हमले के पीछे के कारण का अभी पता नहीं चल पाया है. घटना के पीछे पारिवारिक विवाद और पड़ोसियों से वाद-विवाद भी कारण हो सकता है. जॉन्सटन ने कहा कि हम शुरू से इस बात को लेकर स्पष्ट थे कि हमलावर एक है, जो बिना सोचे समझे लोगों को निशाना बना रहा है.

नेपाल ने दिया ड्रैगन को झटका, चीनी कंपनी के साथ हाइड्रो प्रोजेक्ट डील की रद्द-
चीन की नेपाल को अपनी तरफ करने की कोशिशों को एक बड़ा झटका लगा है. नेपाल सरकार ने बुधी गंडाकी नदी पर बनाए जा रहे हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट के चीनी कंपनी के साथ कॉन्ट्रैक्ट को रद्द कर दिया है. नेपाल के उपप्रधानमंत्री कमल थापा ने मंगलवार को ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि अब ये कॉन्ट्रैक्ट किसी भारतीय कंपनी को मिल सकता है. कमल थापा ने ट्वीट किया, '' कैबिनेट ने गेचोउबा ग्रुप के साथ बुधी गंडाकी नदी पर बनने वाले हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट को रद्द कर दिया है.'' हालांकि, जब चीन की ओर से इस पर कोई टिप्पणी करने को कहा गया तो चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें इस बारे में अभी कोई ठोस जानकारी नहीं है, नेपाल और चीन के संबंध काफी अच्छे हैं ये प्रोजेक्ट भारतीय कंपनी NHPC को मिल सकता है. बता दें कि जब नेपाल सरकार ने चीनी कंपनी के साथ इस प्रोजेक्ट को लेकर डील की थी, उसी के बाद ही चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के वन बेल्ट वन रोड के समर्थन की बात कही थी.

जिम्बाब्वे में राजनीतिक संकट गहराया: सरकारी चैनल पर सैनिकों का कब्जा, तख्ता पलट की खबरों को किया खारिज-
हरारे: जिम्बाब्वे में बढ़ते राजनीतिक संकट के बीच राष्ट्रीय प्रसारक 'जेडबीसी' के मुख्यालय पर सैनिकों ने कब्जा कर लिया है. 'बीबीसी' ने बुधवार को बताया, राजधानी हरारे में विस्फोट की खबरें भी मिलीं हैं लेकिन इसका कारण स्पष्ट नहीं है. वहीं, इससे पहले दक्षिण अफ्रीका में देश के राजदूत ने तख्तापलट की खबरों को खारिज कर दिया था. जिम्बाब्वे की सत्तारूढ़ पार्टी ने देश के सेना प्रमुख द्वारा संभावित सैन्य हस्तक्षेप की चेतावनी देने के बाद राजद्रोह करने का आरोप लगाया था. जनरल कॉन्स्टेंटिनो चिवेंगा ने राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे द्वारा उप राष्ट्रपति को बर्खास्त करने के बाद चुनौती दी थी. वहीं, तनाव मंगलवार से बढ़ा है जब बख्तरबंद वाहन हरारे के बाहर की सड़कों पर तैनात कर दिए गए थे और इनका यहां तैनात होने का उद्देश्य भी स्पष्ट नहीं था.एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि राष्ट्रपति रोबर्ट मुगाबे के शासन की महत्वपूर्ण समर्थक रही सेना और 93 वर्षीय नेता के बीच तनाव गहरा गया है और बुधवार तड़के बोरोडाले में लंबे समय तक गोलीबारी हुई. मुगाबे की जेडएएनयू-पीएफ पार्टी ने सेना प्रमुख जनरल कांन्सटैनटिनो चिवेंगा पर मंगलवार को ‘‘राजद्रोह संबंधी आचरण’’ का आरोप लगाया. इस विवाद ने मुगाबे के लिए ऐसे समय में बड़ी परीक्षा की घड़ी पैदा कर दी है, जब पहले कह वहां हालात खराब चल रहे हैं. चिवेंगा ने मांग की है कि मुगाबे उपराष्ट्रपति एमरसन मनांगाग्वा की पिछले सप्ताह की गई बर्खास्तगी को वापस लें

गुजरात: EC ने BJP पर 'पप्पू' शब्द के इस्तेमाल पर लगाई रोक-
निर्वाचन आयोग ने भारतीय जनता पार्टी पर गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापनों में 'पप्पू' शब्द का इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी है. ज्ञात हो कि BJP मुख्य विपक्ष दल कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी का उपहास उड़ाने के लिए इस शब्द का इस्तेमाल करती रही है. EC के आदेश की पुष्टि करते हुए BJP के सूत्रों ने बताया कि चुनाव प्रचार के लिए तैयार किए जा रहे विज्ञापनों में किसी खास व्यक्ति को निशाना बनाने वाले शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा. BJP के सूत्रों के अनुसार, गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के अधीन मीडिया कमिटी ने पार्टी द्वारा पिछले महीने पेश किए गए विज्ञापनों की स्क्रिप्ट में इस्तेमाल कुछ शब्दों पर आपत्ति जताई थी. BJP के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, "चुनाव प्रचार से जुड़ी कोई भी सामग्री तैयार करने से पहले हमें मंजूरी लेने के लिए उसे गुजरात CEO की मीडिया कमिटी को भेजना पड़ता है. कमिटी ने विज्ञापन की स्क्रिप्ट में पप्पू शब्द को अपमानजनक करार देते हुए आपत्ति जताई. हमें इसे हटाने या उसकी जगह कोई दूसरा शब्द इस्तेमाल करने का निर्देश दिया गया है." उन्होंने बताया कि पार्टी चुनाव प्रचार सामग्री में से इसकी जगह दूसरे शब्द का इस्तेमाल करेगी और नई स्क्रिप्ट EC की मंजूरी के लिए भेजी जाएगी. उन्होंने कहा, "विज्ञापन की स्क्रिप्ट में पप्पू शब्द का इस्तेमाल सीधे-सीधे किसी के लिए नहीं किया गया था, इसलिए हमने आयोग से इस पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया. लेकिन आयोग ने हमारा अनुरोध ठुकरा दिया. इसलिए अब हम इस शब्द की जगह कोई दूसरा शब्द इस्तेमाल करेंगे."

हिंडन एयरबेस में घुसा शख्स बोला- भूखा था बैठने की जगह देख रहा था-
गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरफोर्स स्टेशन में मंगलवार की देर रात घुसने का प्रयास कर रहे एक संदिग्ध को सुरक्षाकर्मियों ने गोली मार दी। उसे एयरफोर्स स्टेशन परिसर में स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां उससे एयरफोर्स और जिला पुलिस के अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। संदिग्ध का आतंकी कनेक्शन भी खंगाला जा रहा है। इस बीच इस शख्स ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं भूखा था और बैठने के लिए वहां गया था, लेकिन अब मैं ऐसा कभी नहीं करूंगा। जानकारी के अनुसार मंगलवार रात करीब 11 बजे हिंडन एयरफोर्स स्टेशन के गेट नंबर एक से एक संदिग्ध ने घुसने का प्रयास किया। दिखाई देने पर सुरक्षा कर्मियों ने उसे अंदर जाने से रोक दिया। इसके बाद भी वह दीवार फांदकर स्टेशन में घुसने लगा। उसे रोकने के लिए सुरक्षा कर्मी ने दाएं पैर में गोली मार दी। घायलावस्था में उसे स्टेशन परिसर में स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है। संदिग्ध ने अपना नाम सुजीत (25) निवासी प्रतापगढ़ बताया है। आशंका जताई जा रही है कि उसके तार आतंकी संगठन लश्कर-ए- तोइबा से जुड़े हो सकते हैं। मामले की सूचना के बाद थाना प्रभारी राकेश कुमार सिंह व एएसपी अनूप सिंह एयरफोर्स स्टेशन पहुंचे और उनके अधिकारियों के साथ संदिग्ध सुजीत से पूछताछ की।